December 1, 2021

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

रिलायंस राइट्स इश्यू की अंतिम किस्त भुगतान की तिथि घोषित

1 min read

नई दिल्ली : रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पिछले साल जारी किए गए राइट्स इश्यू के अंतिम भुगतान की तिथि घोषित कर दी है। शेयरधारक सोमवार 15 नंवबर से 29 नवंबर के बीच राइट्स इश्यू की अंतिम किस्त का भुगतान कर सकेंगे। भुगतान की अंतिम तिथि के दो हप्तों के भीतर ही शेयर धारकों के खातों में शेयर क्रेडिट होने की उम्मीद है।

53,125 करोड़ रुपये के राइट्स इश्यू में रिलायंस ने 42.26 करोड़ शेयर 1,257 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से जारी किए थे। जिनमें से अब तक रिलायंस ने 628.5 रुपये प्रति शेयर यानी आधी राशि एकत्र कर ली है। 50 फीसदी राशि यानी 628.5 रुपये प्रति शेयर की राशि का भुगतान शेष है।

इन आंशिक रूप से चुकता शेयरों के धारक कौन हैं यह निर्णय करने के लिए 10 नवंबर, 2021 को रिकॉर्ड डेट तय की गई है। यही शेयरधारक अंतिम किस्त का भुगतान करेंगे। भुगतान ऑनलाइन, चेक/डिमांड ड्राफ्ट आदि कई तरीकों से किया जा सकता है। प्रत्येक तरीके और चरणों की जानकारी के बारे में विवरण https://rights.kfintech.com/callmoney पर उपलब्ध है।

8 नवंबर, 2021 को शेयर बाजारों में रिलायंस के आंशिक रूप से चुकता (पार्शियली पेड) शेयरों के कारोबार का अंतिम दिन था। इसी दिन रिलायंस के पूर्ण चुकता शेयरों की कीमत 2,502 रुपये प्रति शेयर थी, राइट्स इश्यू शेयर 1,257 रुपये की कीमत पर आवंटित किए गए थे इस हिसाब से 18 महीनों में ही इसने रिटेल शेयरधारकों का पैसा करीब दोगुना कर दिया है।

अंतिम भुगतान हो जाने पर, आंशिक रूप से पेड-अप शेयरों को रिलायंस इंडस्ट्रीज के पूर्ण पेड-अप शेयरों में परिवर्तित कर दिया जाएगा, जिनका एनएसई और बीएसई पर रिलायंस के सिंबल के तहत कारोबार किया जा सकेगा।

रिलायंस ने अपने निवेशकों की सहायता के लिए व्हाट्सएप चैटबॉट 7977111111 को फिर से एक्टिव किया है। चैटबॉट, आंशिक रूप से भुगतान किए गए शेयर के धारकों की मदद करेगा। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस वाले और उपयोग में आसान इस चैटबॉट को जियो समूह की कंपनी Haptik द्वारा विकसित किया गया है और इसका उपयोग मई 2020 में राइट्स इश्यू के दौरान और जुलाई 2021 में फर्स्ट कॉल के लिए किया गया था।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *