HomeUncategorizedकाश! क़ानून का यह डर हेमंत जी को पहले ही आ गया...

काश! क़ानून का यह डर हेमंत जी को पहले ही आ गया होता – जमीन घोटाला से जुड़े व ED पर बोले बाबूलाल मरांडी

मिरर मीडिया : जमीन से जुड़े घोटाले मामले में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को घेरते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने कहा कि हेमंत सोरेन को डर है कि आदिवासियों की सैकड़ों एकड़ ज़मीन खुद हड़पने के घोटाले एवं मनी लॉंड्रिंग में पूछताछ के लिये बुला रही ED उन्हें गिरफ़्तार कर सकती है। इस कारण वे ईडी के सामने पूछताछ के लिये जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे।

उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से कोई राहत नहीं मिली तो अब गिरफ़्तारी से बचाने के लिये हाईकोर्ट की शरण में जायेंगे। ये डर अच्छा है। ग़लत करने वाले हर व्यक्ति को क़ानून का डर होना ही चाहिए। चाहे वह कितना भी प्रभावशाली, पंहुच और पैसे वाला क्यों न हो?

काश क़ानून का यह डर हेमंत जी को पहले ही आ गया होता तो झारखंड और झारखंडियों को लूट-खसोट और आतंक का यह नंगा नाच देखने को नहीं मिलता न ही देश दुनियाँ में झारखंड की इतनी बदनामी होती।

हेमंत जी को झारखंड से लेकर दिल्ली तक किसी भी तरह जेल जाने से बचाने के लिये यहॉं वहॉं मत्था टेकते घूमना और मंहगे से मंहगे वकीलों पर ग़रीबों की गाढ़ी कमाई का करोड़ों रूपये भी खर्च नहीं करना पड़ता।

Uday Kumar Pandey
Uday Kumar Pandeyhttps://mirrormedia.co.in
मैं उदय कुमार पाण्डेय, मिरर मीडिया के न्यूज डेस्क पर कार्यरत हूँ।

Most Popular