March 4, 2024

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

जिले में भव्य स्तर पर करम महोत्सव का आयोजन,धनबाद एवं गिरिडीह की 100 से ज्यादा करम टीमें लेंगी हिस्सा

1 min read

धनबाद : झारखंड के लोगों के बीच संस्कृति सभ्यता को बढ़ावा देने के लिए धनबाद में पहली बार करम पर्व का वृहद आयोजन होने जा रहा है।
बता दें कि आजाद हिंद क्लब की ओर से यह महोत्सव टुंडी के नगरीकला उत्तर पंचायत के पहाड़पुर में करम का आयोजन किया जा रहा है।कार्यक्रम शिव मंदिर परिसर के फुटबॉल ग्राउंड में 24 सितंबर को सुबह 10 बजे से शुरू होगा।
कार्यक्रम को लेकर नगरी कला उत्तर के पंचायत समिति सदस्य एवं आयोजन समिति के सदस्य अजीत कुमार महतो ने बताया कि इसमें धनबाद एवं गिरिडीह के लगभग 100 से ज्यादा करम की टीम हिस्सा लेगी। विजेताओं को नगद पुरस्कार मिलेगा। 20 हजार से अधिक की आबादी इस करम परब का गवाह बनेगी। उन्होंने बताया कि पूरे झारखंड से लोक गायक, गायिका एवं खोरठा कलाकार इस कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसमें कई यूट्यूबर भी होंगे, जो अपनी कला से इस समय झारखंडी संस्कृति सहज रहे हैं।

इनमे प्रमुख तौर पर विक्रम रवानी (खोरठा कलाकार) सावित्री कर्मकार (सुप्रसिद्ध गायक झारखंड खोरठा कलाकार), उपेंद्र दीवाना, काजल महतो, दीपक महतो, मेघा मंडल, विष्णु देव और बंगाल के भी कई कलाकार शामिल हैं।
मालूम हो कि करम झारखंड के आदिवासियों एवं मूल निवासी का एक प्रमुख त्योहार है। यह पर्व हिंदू पंचांग के भादो मास की एकादशी को झारखंड, छत्तीसगढ़ और बंगाल में प्रमुख तौर में बनाया जाता है। करम उत्सव की तैयारी त्योहार से लगभग 10 या 12 दिन पहले हो जाती है।

इसमें कई प्रकार के बीज मसलन चावल, गेहूं, मक्का आदि टोकरी में लगाए जाते हैं, जिसे जावा कहा जाता है। इस मौके पर पूजा करके झारखंड के आदिवासी एवं मूलवासी अच्छे फसल की कामना करते हैं।

इसके साथ ही बहनें अपने भाइयों की सलामती के लिए प्रार्थना करती हैं। इस अवसर पर उपवास के पश्चात कर्म पेड़ की शाखा को घर के आंगन में रोपेते हैं और करम डाल की पूजा होती है।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.