February 24, 2024

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

धनबाद – यात्रीयों का सामान चोरी करने वाले अंतर्राजीय गिरोह के 5 सदस्य को आरपीएफ ने पकड़ा : 47,000 नगदी सहित कई सामान बरामद

1 min read

मिरर मीडिया : बुधवार को गुप्त सुचना के आधार पर आरपीएफ ने अंतर्राजीय गैंग के 5 चोरों को पकड़ने में सफलता पाई है। ये सभी लोग गाड़ी संख्या 19608 मदार-कोलकाता एक्स्प्रेस में उस वक्त चढ़े थे ज़ब कतरास में गाड़ी धीरे हो गई थी।ये सभी, यात्री का सामान चोरी करते हुए धनबाद आ रहे थे।

वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त के निर्देश पर प्रभारी निरीक्षक के नेतृत्व में उप-निरीक्षक आभाष चन्द्र सिंह, उप-निरीक्षक कुन्दन कुमार, आरक्षी सोनू कुमार पांडे, आरक्षी प्रविन्द कुमार, आरक्षी भगवान ओझा, आरक्षी फूलचंद महतो, आरक्षी विनय कुमार, उक्त गाड़ी के धनबाद आगमन से पूर्व धनबाद रेलवे स्टेशन के विभिन्न स्थानों पर छुपकर निगरानी करने लगे।

इधर मदार-कोलकाता एक्स्प्रेस के प्लेटफॉर्म संख्या 6 पर जांच में उक्त पांचों अभियुक्त धनबाद स्टेशन आने के पहले ही उतरकर भागने में सफल रहें। वहीं दोपहर में सूचना मिली कि उक्त पांचों अभियुक्तों द्वारा ट्रेन में कई यात्रियों के पर्स वगैरह चोरी कर चम्पत हो गया और वर्तमान में धनबाद के भिस्ती पाड़ा स्थित होटल झील में ठहरे हुए हैं।

सूचना मिलते ही अवर निरीक्षक सुधीर कुमार सिंह तथा आरक्षी शंकर बारा सहित आरपीएफ के अधिकारी होटल पहुंचे जहाँ पूछताछ पर पता चला कि कुछ देर पहले ही पाँच लोग दो कमरा बुक किए हैं। जांच में कुल पाँच लोग पाए गए।  जिनसे पूछने पर सभी ने अपनी संलिपता स्वीकार कर ली है। पांचों ने अपना पता थाना-सुल्तानपुरी, जिला- नॉर्थ वेस्ट दिल्ली बताया।

पूछने पर उन्होंने बताया कि मगंलवार को धनबाद आए थे तथा औजार की मदद से विभिन्न ट्रेनों में यात्रियों का पॉकेट भी मार लिए थे और सामान भी चोरी कर लिए थे। बरामद सभी सामानों को उप-निरीक्षक आभाष चन्द्र सिंह के द्वारा जब्त किया गया तथा पांचों अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया।

चेक करने पर उनके कब्जे से कुल 47,000/- नकद, एक OPPO स्मार्टफोन, तीन पुराना कलाई घड़ी, दो अदद पॉकेट काटनेवाला औजार, तथा दो अदद ट्राली बैग का चेन खोलनेवाला औजार तथा एक अदद एयरटेल कंपनी का सिम तथा आर्टिफिसियल गहना बरामद हुआ। बरामद सामानों का कुल अनुमानित मूल्य 75,000/- रुपए है।

पूछने पर उनके द्वारा बताया गया कि दिल्ली के कई थानों में उनके विरुद्ध चोरी का मुकदमा दर्ज है। उक्त सभी के विरुद्ध लिखित शिकायतपत्र के साथ अग्रिम कार्यवाही हेतु GRP धनबाद को सुपुर्द किया गया है।

गौरतलब है कि मशीन के नाम से जाना जाने वाला इसका मुख्य सरगना जयवीर सिंह है जो सुल्तानपुरी, दिल्ली का रहनेवाला है। स्वीकारोक्ति बयान में पकड़े गए आरोपियों ने बताया की पहले वे लोग टारगेट यात्री को चुन लेते हैं, जिसका सामान चोरी करना है। उक्त यात्री को  गिरोह के सदस्य घेरकर भीड़ बना लेते हैं फिर औजार की मदद से ऑपरैट कर सामान चोरी कर किया जाता है।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.