February 27, 2024

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

भारी बारिश के बाद बादल फटने व भूस्खलन के मद्देनज़र हिमाचल में मौसम विभाग का सात दिनों का अलर्ट

1 min read

मिरर मीडिया : इस वर्ष मानसून की एंट्री भारत में लगभग सभी क्षेत्रों में हो चुकी है और इसी के साथ बादल फटने व भूस्खलन की खबर सामने आने लगी है। बता दें कि रविवार और सोमवार को हिमाचल के कई जिलों में भारी बारिश के कारण पहाड़ों में कई जगह भूस्खलन भी हुआ।

भारी वर्षा, बादल फटने और भूस्खलन की आशंका के मद्देनज़र आगामी सात दिनों के लिए मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। जबकि पुलिस ने मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मद्देनजर पर्यटकों और स्थानीय लोगों के लिए विशेष एजवाइजरी भी जारी कर दी है। कहा गया है कि कहीं पर जाने से पूर्व वहां की स्थिति और प्रशासन की सलाह का पालन करने को कहा गया है।

पुलिस द्वारा जारी एडवाइजरी के अनुसार

1. भारी बारिश की आशंका को देखते हुए जनता को इससे बचने की सलाह दी जाती है। अनावश्यक यात्रा न करें और मौसम की स्थिति का पता लगाएं

2. नदियों व नालों से सटे शिविर व स्थलों पर जाने से बचें और भूस्खलन संभावित क्षेत्र में टेंट आदि न लगाएं

3. अपने निवास स्थान और उसके आस-पास सभी आवश्यक सावधानियां बरतें

4. बरसात के मौसम में किसी भी जल क्रीड़ा राफ्टिंग व अन्य गतिविधियों आदि में शामिल होने से बचें

5. यात्रियों और आम जनता को सलाह दी जाती है कि नदी के किनारे और भूस्खलन की संभावना वाले क्षेत्रों में जाने से बचें

6. सार्वजनिक परिवहनकर्ताओं को सलाह दी जाती है कि वे सावधानी से वाहन चलाएं और भूस्खलन संभावित क्षेत्रों में अनावश्यक न रुकें

7. किसी भी संकट की स्थिति में आपातकालीन नंबर 112 या 1077 डायल करें और संपर्क करें

पर्यटन विभाग की एडवाइजरी

पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन विभाग की ओर से पर्यटकों के लिए जारी सलाह में कहा गया है कि पिछले चौबीस घंटों के दौरान राज्य में बहुत भारी वर्षा हुई। जिसके चलते कई पर्यटन स्थलों को जोड़ने वाली सड़कों पर भूस्खलन हुआ है। परिणामस्वरूप बड़ी संख्या में सड़क मार्ग अवरुद्ध रहे हैं। प्रदेश में आने से पहले पर्यटकों को राज्य आपदा प्रबंधन की वेबसाइट को देखने की सलाह दी गई है। इस वेबसाइट पर हर तरह की जानकारी उपलब्ध होने से पर्यटकों को यात्रा करने में मदद प्राप्त होगी।

एडवाइजरी में कहा गया है कि राज्य में आए पर्यटकों को नदियों, नालों, खड्डों के निकट जाने से सावधान रहना होगा। वर्षा के कारण पहाड़ों से पत्थर गिरने की संभावना रहती है और भूस्खलन की भी। ये भी सलाह दी गई है कि पर्यटक पहले से ही सड़क की स्थिति के बारे में जानकारी एकत्र कर लें।

301 सड़कें प्रभावित, युद्ध स्तर पर चल रहा काम’
हिमाचल के पीडब्ल्यूडी मंत्री विक्रमादित्य सिंह का कहना है कि इस बार हमारे मुख्यमंत्री के नेतृत्व में हम सभी परिस्थितियों के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। राज्य के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। लगभग 301 सड़कें प्रभावित हुई हैं, 70 मशीनरी तैनात की गई हैं और काम युद्ध स्तर पर चल रहा है।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.