October 2, 2023

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

सीएसची के 6 चिकित्सकों को शोकॉज

1 min read

जमशेदपुर : प्रखंड क्षेत्र भ्रमण के क्रम में जिला उपायुक्त मंजूनाथ भजन्त्री द्वारा बहारागोड़ा में सामुदायिक अस्पताल, प्रखंड कार्यालय बहरागोड़ा व थाना तथा घाटशिला में अनुमंडल अस्पताल, ट्रॉमा सेंटर, कुपोषण उपचार केन्द्र का औचक निरीक्षण किया गया। सर्वप्रथम बहरागोड़ा में सामुदायिक अस्पताल पहुंचे उपायुक्त ने अस्पताल परिसर में बने नालियों को स्लैब से ढकने तथा सीढ़ियों पर रेलिंग बनाने के निर्देश दिए, ताकि मरीजों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। उन्होने अस्पताल के सभी वार्ड में घूम-घूम कर मरीजों व तीमारदारों से उन्हें दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली। चिकित्सक नियमित जांच के लिए आते हैं या नहीं यह भी पूछा। दवा का स्टॉक, प्रतिनियुक्त मानव बल(चिकित्सक व पारा मेडिकल स्टाफ), एंबुलेंस, स्टाफ क्वार्टर के रखरखाव की भी जानकारी ली। मौके पर मौजूद चिकित्सक डॉ. ऋतुराज से उन्होने अन्य चिकित्सकों की उपस्थिति की जानकारी ली तो क्वार्टर में होने की बात बताई गई। उपायुक्त ने क्वार्टर पहुंचकर देखा तो ताला बंद पाया गया। बिना अनुमति के ड्यूटी से गायब पाये जाने पर डॉ उत्पल मुर्मू, डॉ गोपीनाथ महली, डॉ नेहा कुमारी, डॉ संगीता केरकेट्टा, डॉ सुपर्णा नायक, डॉ अर्चना सिन्हा को शो कॉज का निर्देश सिविल सर्जन को दिया गया। वहीं एक अन्य चिकित्सक के श्रावणी मेला में प्रतिनियुक्ति की बात बताई गई।

सीएसची के निरीक्षण बाद जिला उपायुक्त ने प्रखंड सह अंचल कार्यालय का निरीक्षण किया व नवनिर्मित बीडीओ व सीओ आवास के निर्माण कार्य की गुणवत्ता को देखा। निर्माण कार्य अधूरा रहने पर विशेष कार्य प्रमंडल के अभियंता से कारण पृच्छा की गई। मानक के अनुरूप निर्माण सामग्री का उपयोग नहीं पाये जाने पर भी अप्रसन्नता जताई।

वहीं प्रखंड मुख्यालय परिसर के खाली स्थानों पर पौधारपोण का निदेश प्रखंड विकास पदाधिकारी को दिया गया। साथ ही परिसर को साफ-सुथरा रखने व आम जनता की समस्याओं पर समयबद्ध कार्रवाई की बात कही गई। जिला उपायुक्त द्वारा बहरागोड़ा थाना में हाजत, थाना परिसर का निरीक्षण किया गया। डकैती, रंगदारी, मर्डर, एससी एसटी एक्ट से जुड़े मामले या अन्य मामलों की जानकारी ली। उन्होने एसडीपीओ व थाना प्रभारी से थाना क्षेत्र में विधि व्यवस्था की समीक्षा की तथा विधि व्यवस्था के संधारण में किसी तरह की समस्या तो नहीं है इसकी भी जानकारी ली।

बहरागोड़ा प्रखंड में निरीक्षण के बाद जिला उपायुक्त ने घाटशिला अनुमंडल अस्पताल का निरीक्षण किया। ट्रॉमा सेंटर के क्रियाशील नहीं पाये जाने पर उचित कार्रवाई किये जाने की बात कही। जिससे लोगों को इसका लाभ मिल सके। मरीजों से बात कर उपलब्ध कराई जा रही। चिकित्सीय सुविधाओं से वे संतुष्ट हैं या नहीं यह जाना, दवा का स्टॉक, डॉक्टर व पारामेडिकल स्टाफ की उपलब्धता की जानकारी ली। अस्पताल परिसर में ही संचालित कुपोषण उपचार केन्द्र का निरीक्षण कर माताओं से सुविधाओं की जानकारी ली। कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य में क्या सुधार हो रहा चिक्त्सकों से पूछा, पोषाहार समय पर मिलता है या नहीं इसकी भी जानकारी ली तथा मेन्यू को देखा। कुपोषित बच्चे अस्पताल में जन्म लिए या घर पर यही भी जाना। उन्होने सिर्फ संस्थागत प्रसव के लिए आम जनता को प्रेरित करने का निदेश चिकित्सकों व अन्य पदाधिकारियों को दिया। ताकि जच्चा-बच्चा के स्वास्थ्य की समुचित निगरानी की जा सके।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.