June 28, 2022

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

आगामी 23 जून को सभी प्रखंड मुख्यालयों में लगेगा मेगा केसीसी कैंप : उपायुक्त की अध्यक्षता में जिला स्तरीय सलाहकार समिति की बैठक संपन्न

1 min read

सीडी रेशियो में सुधार करने, योजना के लिए सरकार से मिलने वाली राशि को लोन अकाउंट में एडजस्ट नहीं करने का निर्देश

मिरर मीडिया : शुक्रवार को समाहरणालय के सभागार में उपायुक्त संदीप सिंह की अध्यक्षता में आयोजित जिला स्तरीय सलाहकार समिति (डीएलसीसी) की बैठक में उपायुक्त ने सभी बैंक को आगामी 23 जून को सभी प्रखंड मुख्यालय एवं प्रखंड के सुदूरवर्ती बैंक ब्रांचों में मेगा केसीसी कैंप लगाने का निर्देश दिया।

मेगा केसीसी कैंप का उद्देश्य छुटे हुए पीएम किसान योजना के लाभुकों व बिरसा किसानों को केसीसी से अच्छादित करना है। कैंप में प्राप्त आवेदनों में त्रुटि होने पर उसका वही सुधार कर लिया जाएगा। 23 जून को सुबह 10:00 बजे से संध्या 4:00 बजे तक केसीसी के लिए छुटे हुए कृषक आवेदन दे सकते है। आवेदन प्राप्त करने के बाद एक पखवाड़े के अंदर बैंक संबंधित आवेदन को निष्पादित करना सुनिश्चित करेंगे।

उपायुक्त ने सभी बैंकों से कहा कि वैसे लाभुक, जिन्हें पीएम आवास योजना अथवा अन्य योजना के लिए सरकार से राशि मिलती है, को लाभुक के किसी भी लोन अकाउंट में एडजस्ट नहीं करें। वह राशि लाभुक की नहीं है। योजना की है। जो लाभुक को योजना के लिए दी जाती है।

बैठक में उपायुक्त ने एनुअल क्रेडिट प्लान की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान लक्ष्य से कम ऋण देने वाले बैंक की सूची उपलब्ध कराने तथा जमा और अग्रिम तथा सीडी रेशियो 32.04% होने पर इसमें सुधार करने का निर्देश दिया। साथ ही पंजाब नेशनल बैंक की गोविंदपुर, टुंडी व ओझाडीह शाखा तथा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की पोखरिया व महुदा शाखा को एसएचजी लिंकेज में सहयोगात्मक कार्यप्रणाली अपनाते हुए तीव्र गति से कार्य निष्पादित करने का निर्देश दिया।

बैठक में अग्रणी जिला प्रबंधक राजेश कुमार सिन्हा ने बताया कि जिले ने एनुअल क्रेडिट प्लान में 60.92%, कृषि में 134.22%, एमएसएमई क्रेडिट प्लान 111.21%, एनुअल क्रेडिट प्लान (प्रायोरिटी सेक्टर) 116.82%, एनुअल क्रेडिट प्लान (नन प्रायोरिटी सेक्टर) 223.74%, जन धन योजना में 88.57%, मार्च 2022 तक 5348 एसएचजी लिंकेज, 84775 मुद्रा लोन अकाउंट का लक्ष्य प्राप्त किया है। बैठक के दौरान स्टैंड अप इंडिया, पीएमईजीपी, पीएमजेडीवाई, पीएमएसबीवाई, पीएमजेजेबीवाई, पीएम स्वनिधि सहित अन्य योजनाओं की समीक्षा की गई।

बैठक में उपायुक्त संदीप सिंह, उप विकास आयुक्त शशि प्रकाश सिंह, विधायक झरिया के प्रतिनिधि केडी पांडेय, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के लीड डेवलपमेंट ऑफिसर अखंडोल सोरेन, एलडीएम राजेश कुमार सिन्हा, डीडीएम नाबार्ड रवि लोहानी, जिला कृषि पदाधिकारी सहित विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published.