Homeराज्यJamshedpur News'स्वच्छ सर्वेक्षण 2023' को लेकर कार्यशाला का आयोजन, नंबर-1 आने की ...

‘स्वच्छ सर्वेक्षण 2023’ को लेकर कार्यशाला का आयोजन, नंबर-1 आने की है तैयारियां

जमशेदपुर : “स्वच्छ भारत मिशन(शहरी)” 2.0 अंतर्गत “स्वच्छ सर्वेक्षण 2023” को लेकर जुगसलाई नगर परिषद् के सभागार में कार्यालय के पदाधिकारियों व कर्मचारियों के लिए कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 के मार्गदर्शिका के अनुसार क्षेत्र में आवश्यक तैयारियां करने के लिए प्रशिक्षण दिया गया। कार्यशाला के माध्यम से पूरे जुगसलाई टीम को आम नागरिकों से अधिक से अधिक सिटीजन फीडबैक लेने के लिए निर्देश दिया गया।

सिटीजन फीडबैक”:- बता दें कि जुगसलाई नगर परिषद् को स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 के सिटीजन इंगेजमेंट के तहत अब तक कुल 1886 नागरिकों के द्वारा फीडबैक दिया गया है। जिससे पूरे झारखण्ड में इसकी रैंकिंग 8वे स्थान पर है। जुगसलाई में स्वच्छ्तम पोर्टल के माध्यम से 734, स्वच्छता ऐप्प के माध्यम से 506, वोट फॉर योर सिटी ऐप्प से 646 लोगो ने फीडबैक दिया है। कोई भी नागरिक 15 अगस्त 2023 तक सिटीजन फीडबैक दे सकता है।

स्वच्छता सर्वेक्षण 2023″ : स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 के लिए कुल 9500 अंक निर्धारित किया गया है। जिसमे सर्विस लेवल प्रोग्रेस- 4525 अंक, सर्टिफिकेशन- 2500 अंक, सिटीजन वोइस – 2475 अंक।

तैयारियां” :- इस क्रम में जुगसलाई नगर परिषद् के द्वारा युद्ध स्तर पर डोर टू डोर गार्बेज कलेक्शन, स्वीपिंग, ड्रेन क्लीनिंग का कार्य, सार्वजनिक शौचालय, सामुदायिक शौचालय, मोडुलर टॉयलेट का निरंतर साफ सफाई, जीवीपी पॉइंट का रेड्रेसल के साथ साथ रात्रि कालीन स्वीपिंग व कचड़े का उठाव का कार्य कराया जा रहा है। जगह-जगह पर वॉल पेंटिंग, वॉल राइटिंग व जन जागरूकता स्वच्छता बैनर, पोस्टर लगाया जा रहा है व माईकिंग कराया जा रहा है। प्रतिबंधित सिंगल यूज प्लास्टिक पर लगातार इंफोर्समेंट चलाया जा रहा है। जीवीपी पॉइंट का रिड्रेसल के साथ-साथ दोबारा उस स्थल पर लोग कचरा ना फेंके इसके लिए स्वच्छता प्रहरी के द्वारा उसकी निगरानी की जा रही है। जुगसलाई नगर परिषद क्षेत्र के सारे डस्टबिनो को हटाकर “बिन फ्री सिटी” बनाया गया है।
डोर टू डोर गार्बेज कलेक्शन को होल्डिंग नंबर के साथ टैगिंग किया जा रहा है, ताकि डोर टू डोर गार्बेज कलेक्शन को और अधिक बेहतर किया जा सके।

Most Popular