HomeJharkhand Newsश्याम रंग में रंगा साकची, 1301 निशान के साथ निकली शोभा यात्रा...

श्याम रंग में रंगा साकची, 1301 निशान के साथ निकली शोभा यात्रा में झूमते रहे श्रद्धालु, शिव मंदिर में धूमधाम से मना 35वां श्याम महोत्सव

जमशेदपुर : श्री श्री साकची शिव मंदिर व श्री श्याम परिवार का 35वां श्री श्री श्याम महोत्सव मंगलवार को धूमधाम से मनाया गया। महोत्सव को लेकर पूरे मंदिर परिसर समेत श्याम बाबा का विशाल दरबार पुष्पों से सजाया गया था। 1301 निशान यात्रा का शुभारंभ साकची शिव मंदिर में पूजा अर्चना के बाद बाबा के जयकारे से हुई, जो साकची बाजार डालडा लाईन, पलंग मार्केट चौक, साकची बिरसा मुंडा चौक से स्टेट माइल रोड़ से काशीडीह होते हुए वापस मंदिर पहुंच कर बाबा श्याम को निशान अर्पित करने के साथ संपन्न हुई।

शोभा यात्रा के दौरान जय श्री श्याम, शीश के दानी, हारे का सहारा के जयघोष पूरा मार्ग गूंजता रहा। निशान यात्रा के दौरान मार्ग में स्थानीय कलाकार महावीर अग्रवाल द्वारा डोरी खींच के राखिजे यो है बाबा को निशान, पैदल चालनिये के सागे चाले बाबा श्याम… जैसे शानदार भजनो की प्रस्तुति दी। शोभा यात्रा में सबसे आगे बैडबाजा समेत एक वाहन पर सजा बाबा श्याम का दरबार व दो घुड़सवार के साथ बाबा श्याम और हनुमान जी का बड़ा ध्वजा लिये भक्त चल रहे थे। इस यात्रा में राधा-कृष्ण और हनुमान जी का रूप धारण किये कलाकारों द्धारा नृत्य भी किया गया। शोभा यात्रा में सैकड़ों महिलाएं व युवा एक ही परिधान परिधान में शामिल थे। साथ ही दर्जनों भक्त निशान यात्रा के आगे साफ-सफाई कर श्रद्धालुओं की सेवा कर रहे थे।

मंदिर परिसर में सुबह 11 बजे ध्वजा पूजन यजमान अंजू-नरेश सिंघानिया, अंजना-मनोज अग्रवाल व कमलेश अग्रवाल सपत्नी ने किया। संध्या 8.30 बजे अखंड ज्योत की पूजा मुख्य यजमान राम कृष्ण चौधरी ने सपरिवार की। पूजा विधिवत् रूप से विपीन झा और रामजी पारिक तके नेतृत्व में पांच पंडितों द्वारा करायी गयी और सभी भक्तों को रक्षा सूत्र बांधा गया। महोत्सव के दौरान साकची शिव मंदिर श्याम के रंग में रंगा और पूरा महौल भक्तिमय हो गया था। महोत्सव का मुख्य आकर्षण शोभा यात्रा, भव्य दरबार, आलौकिक श्रृंगार, छप्पन भोग, अखण्ड ज्योत, विशाल संकीर्तन रहा।
महोत्सव को सफल बनाने में सुरेश अग्रवाल, सुभाष शाह, गिरधरी लाल खेमका, उमेश शाह, कमल चौधरी, बबलू अग्रवाल, नरेश अग्रवाल, ओम प्रकाश रिंगसिया, बजरंग लाल अग्रवाल, सांवरमल अग्रवाल, अमर डगबाजिया, मोहित शाह, आशीष खन्ना, तुषार जिंदल, अंकित अग्रवाल, अमन नरेडी, आशीष शर्मा, गौरव जवानपुरिया, नितिन अग्रवाल, विवेक अग्रवाल, हनी अग्रवाल, विवेक चौधरी, नरेश सिंघानिया, आलोक चौधरी, पवन खेमका, मोंटी अग्रवाल, अंकित अग्रवाल, कमल सिंघल, कविता अग्रवाल, निशा सिंघल, उषा चौधरी, सुनीता केडिया, पिंकी केडिया, पूूजा मोदी, अनिता अग्रवाल, उमा चेतानी समेत मंदिर समिति की महिलाएं और राधा-रानी संस्था की टीम का महत्वपूर्ण योगदान रहा।
देर रात तक भजनों पर झूमते रहे भक्त श्री श्याम निशान यात्रा सह महोत्व में समस्तीपुर से आयी भजन कलाकार रेशमी शर्मा और कोलकाता से आये शुभम-रूपम की जोड़ी ने मधुर भजनों की अमृत वर्षा कर भक्तों को झूमने पर मजबूर कर दिया। साथ ही स्थानीय भजन गायक महावीर अग्रवाल ने भी बाबा के दरबार में हाजरी लगायी। भजन गायकों ने विविधतापूर्ण भजनों से खाटू श्याम के जीवन दर्शन से लेकर उनकी महिमा तक के भजन सुनाकर श्रद्धालुओं को भावविभोर कर दिया।

श्री गणेश वंदना मेरे लाडले गणेश प्यारे प्यारे….से भजन कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। कलाकारों ने ल्याया थारो श्याम जी केसरिया निशान…, आयो सांवलियो सरकार लीले पे चढ़के…, मेरी झोपडी के भाग आज खुल जायेंगे श्याम आयेंगे…, म्हारे सिर पे है बाबा जी रो हाथ…, अपने दिल का हाल म्हे सुनावन आया हां…, म्हारे सिर के ऊपर मोर छड़ी लहरावन लागे…, रोती हुई आंखो को मेरे श्याम हंसाते हैं…, किर्त्तण की है रात बाबा आज थाने आनो हैं…, पलकें ही पलकें बिछायेगें… भजनों की प्रस्तुति दी। फाल्गुनी धमाल पर देर रात तक मस्ती में सराबोर रहे भक्तों ने एक-दूसरे को गुलाल लगाकर फागुन (होली) की बधाई दी।

Most Popular