December 1, 2021

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

आरका जैन में तीन दिवसीय आभासी अंतरराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस संपन्न, देश-विदेश के कई अकादमीक, औद्योगिक एवं प्रबंधकीय हस्तियों ने रखीं अपनी बातें

1 min read

जमशेदपुर।अरका जैन विवि के फार्मेसी विभाग ने फिलीपीन्स के सान पेड्रो कॉलेज के फार्मेसी विभाग के सहयोग से नेचुरल एंड नॉवेल फार्मास्यूटिकल रिसर्च विषय पर तीन दिवसीय आभासी अंतर्राष्ट्रीय कांफ्रेंस का आयोजन किया गया। इस तीन दिवसीय कांफ्रेंस में फार्मेसी की दुनिया के देश-विदेश के कई अकादमीक, औद्योगिक एवं प्रबंधकीय हस्तियों ने अपनी बातें रखीं और करीब पांच सौ प्रतिभागियों ने इसका लाभ उठाया। उद्घाटन सत्र में झारखंड ड्रग्स कंट्रोल डायरेक्टरेटर के सहायक निदेशक सुमंत कुमार तिवारी कांफ्रेंस के मुख्य अतिथि और सीयू शाह कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी के पूर्व प्राचार्य डॉ एसजी देशपांडे विशिष्ट अतिथि थे। इस सत्र में कुलपति डॉ एसएस रज़ी, सान पेड्रो कॉलेज के प्रेसिडेंट सिस्टर एइडा फ़्रेंसिलो, संकायाध्यक्ष प्रो फातिमा तेसोरो, विवि के स्कूल ऑफ़ फार्मेसी के डीन डॉ ज्योतिर्मय साहू ने प्रतिभागियों को संबोधित किया। डॉ ज्योतिर्मय साहू ने विषय प्रवेश करवाते हुए कहा कि दवाओं की खोज एक चुनौतीपूर्ण वैज्ञानिक है, जो कि प्राकृतिक उत्पाद की स्क्रीनिंग से संभव है जिसके लिए विशेषज्ञता और अनुभव की आवश्यकता होती है। मुख्य ने विवि के फार्मेसी विभाग की अकादमीक गतिविधियों की प्रशंसा करते हुए हर संभव सहयोग करने का आश्वासन दिया। डॉ देशपांडे ने नयी बिमारियों की बढ़ती संख्या और नए मोलेक्युल्स की खोज की ज़रूरत को समझते हुए प्राकृतिक वस्तुओं से निर्मित दवाओं की महत्ता को रेखांकित किया। सान पेड्रो कॉलेज के डॉ एर्विन फॉलेर ने कहा कि प्राकृतिक उत्पादों और पारंपरिक दवाओं का बहुत महत्व है। विशेषज्ञ वक्ताओं के रूप में डॉ कृष्णप्रिया मोहनराज, डॉ अजय सेमल्टी, प्रो फातिमा तेसोरो, श्रवण कुमार, रंजीत बार्शिकार, डॉ नागराज राव, डॉ मोना सेमल्टी आदि मौजूद थे। कांफ्रेंस का संचालन डॉ मनोज पाठक, खुशबू राज और योगिता कुमारी ने किया और धन्यवाद ज्ञापन प्रो सुमंत सेन ने दिया।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed