August 18, 2022

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

पुजारी हत्याकांड की पुलिस ने सुलझाई गुत्थी : अवैध संबंध एवं पैसे की लालच में की गई हत्या : 2 गिरफ्तार

1 min read

मिरर मीडिया : पुलिस ने बीते 20 जुलाई को थाना क्षेत्र में हुए हत्या कांड का उदभेदन करते हुए दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है जबकि एक आरोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। पुलिस आरोपी को पकड़ने के लिए लगातार छापेमारी करने में जुटी हुई है।

इस पुरे मामले की जानकारी देते हुए बरवाअड्डा थाना प्रभारी रोहित कुमार सिंह ने मीडिया को बताया कि अवैध संबंध और पैसे की लालच के कारण इस हत्या को अंजाम दिया गया है। मृतक का आरोपी बंटी कुमार की पत्नी के साथ अवैध संबंध था। उनके घर लगातार आना जाना लगा रहता था। मृतक की हत्या के ठीक 1 दिन पहले मृतक ने बंटी कुमार के अकाउंट में 80 हजार रुपये मंगाए भी थे। वही दूसरा हत्या आरोपी सुनील कुमार पांडेय की भी पत्नी का अवैध संबंध मृतक के साथ था जिस कारण बंटी और सुनील कुमार पांडेय दोनों ने मिलकर एक साजिश रची जिसमें एक अन्य आरोपी सुधीर कुमार पांडेय भी शामिल था। जो अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है।

तीनों ने 19 जुलाई की रात मृतक के घर एक साथ शराब की पार्टी की। जिसके बाद तीनों आरोपियों ने मिलकर एक कपड़े से गला दबाकर मकेश्वर पांडेय की हत्या कर दी और मोटरसाइकिल लेकर उसके घर से फरार हो गया। घर पर रखे 80 हजार रुपये भी गायब है। फिलहाल गायब पैसे का अभी तक कोई पता नहीं चल सका है।

पुलिस ने हत्या के आरोपि सुनिल कुमार पांडेय और बंटी कुमार को गिरफ्तार कर लिया और कड़ाई से पूछताछ करने पर इन दोनों ने अपनी संलिप्तता भी स्वीकार कर ली है। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त गला दबाने वाला गमछा (कपड़े) को भी बरामद कर लिया है। वहीं गायब मोटरसाइकिल को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया है। वहीं तीसरे की धरपकड़ के लिए पुलिस जुटी हुई है।

बता दे कि बिहार के जमुई जिले के सिकंदरा कुमार बाजार के रहने वाले मकेस्वर पांडेय की हत्या 19 जुलाई की रात्रि को कर दी गई थी जिसका 20 जुलाई को उनके आवास पर शव मिला था। पड़ोस की सूचना के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची थी। जिसके बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए धनबाद भेज दिया था।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published.