August 18, 2022

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

ड्रोन से होगी मुहर्रम जुलूस की निगरानी, असामाजिक तत्वों व सोशल मीडिया पर रहेगी प्रशासन की नज़र, उपद्रव फैलाया तो होगी कार्रवाई

1 min read

जमशेदपुर : उपायुक्त विजया जाधव द्वारा मोहर्रम में विधि व्यवस्था के संधारण को लेकर वरीय पुलिस अधीक्षक प्रभात कुमार, पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) मुकेश लुणायत, एडीएम लॉ एंड ऑर्डर नन्दकिशोर लाल, अपर उपायुक्त सौरभ सिन्हा, अनुमंडल पदाधिकारी धालभूम संदीप कुमार मीणा, अनुमंडल पदाधिकारी घाटशिला सत्यवीर रजक, जिला परिवहन पदाधिकारी दिनेश रंजन, डीसीएलआर रविन्द्र गगरई, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी रोहित कुमार, अंचल अधिकारी, एसडीपीओ, पुलिस उपाधीक्षक, थाना प्रभारी समेत जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन के अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठक की गई। इस वर्ष मुहर्रम का त्योहार 9 अगस्त को मनाया जायेगा | कोविड-19 के प्रसार को देखते हुए मुहर्रम – 2022 के अवसर पर सरकार द्वारा प्राप्त दिशा-निर्देशों का अनुपालन व विधि-व्यवस्था बनाये रखने के लिए थाना स्तरीय शांति समिति व विभिन्न विभागीय पदाधिकारियों के साथ बैठक करने का संयुक्त आदेश प्रशासनिक व पलिस पदाधिरियों को जारी किया गया है।

उपायुक्त विजया जाधव द्वारा बैठक में उपस्थित सभी संबंधित पदाधिकरी को निर्धारित रूट व तय समय पर ही जुलूस निकले तथा संपन्न हो इसे सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया। उन्होने कहा कि जुलूस का ड्रोन से निगरानी के साथ-साथ वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई जाएगी। सभी अंचल अधिकारी व थाना प्रभारी को रूट का निरीक्षण कर 1 अगस्त से पहले प्रतिवेदन समर्पित करने का निदेश दिया गया। उन्होने बताया कि सभी मोहर्रम कमिटी को जुलूस निकालने के लिए संबंधित क्षेत्र के अनुमंडल पदाधिकारी से पूर्वानुमति लेना अनिवार्य है जिसमें रूट चार्ट की विवरणी तथा अंडरटेकिंग देना होगा। जुलूस के रूट में ईंट, पत्थर या निर्माण कार्य से जुड़ी कोई अन्य सामग्री सड़क पर रखी गई हो तो उसे तत्काल वहां से हटाने के निर्देश दिए। उपायुक्त द्वारा सख्त निर्देश देते हुए कहा गया कि सोशल मीडिया पर विशेष निगरानी रखी जाएगी। ऐसे में ग्रूप एडमिन एवं संबधित ग्रूप के सदस्य बिना पुष्टि के किसी भी भ्रामक खबर का प्रसार अपने से नहीं करेंगे। उन्होने जूलूस का रूट तथा विसर्जन घाटों में आवश्यक मरम्मतीकरण के कार्य भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। सीसीटीवी स्पॉट चिन्हित करने तथा आवश्कतानुरूप बैरिकेडिंग का भी निर्देश दिया गया।

वरीय पुलिस अधीक्षक प्रभात कुमार ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि जुलूस का रूट पहले से चिन्हित हो। उन्होने सभी अंचल अधिकारी व थाना प्रभारी को पैदल गश्त करते हुए रूट का निरीक्षण सुनिश्चित करने के निर्देश दिए, ताकि आवश्कतानुसार पुलिस बल की तैनाती ससमय की जा सके। थानावार शांति समिति की बैठक करने तथा प्रत्येक मोहर्रम कमिटी के उनके दस सदस्यों का नाम व फोन नंबर भी लेने के निर्देश दिए। ताकि आवश्यकता पड़ने पर विधि व्यवस्था के संधारण में सहयोग के लिए उनसे संपर्क करने में आसानी हो। बैठक में 107 तथा सी.सी.ए के मामलों की भी समीक्षा की गई। वरीय पुलिस अधीक्षक ने कहा कि 7-8 अगस्त को जिला के वरीय पदाधिकारियों की निगरानी में फ्लैग मार्च किया जाएगा। इस दौरान विधि व्यवस्था के संधारण की तैयारियों का जायजा तथा कमियों को दूर करने का प्रयास होगा।

एडीएम लॉ एंड ऑर्डर नन्दकिशोर लाल ने कहा कि अतिसंवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर विधि व्यवस्था के संधारण को लेकर सभी संबंधित पदाधिकारी आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करें। उन्होने सख्त हिदायत देते हुए कहा कि असामाजिक तत्वों व हुड़दंगियों पर विशेष निगरानी रखी जाएगी। शांति व्यवस्था भंग करते पाये जाने पर दोषियों के विरूद्ध विधि सम्मत कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published.