September 25, 2022

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

गुंजन जवेल्स लूटकांड – 19 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ अबतक खाली : बिहार गयी पुलिस की टीम भी लौटी खाली हाथ

1 min read

मिरर मीडिया : 19 दिन बीत जाने के बाद भी
गुंजन जवेल्स लूटकांड में धनबाद पुलिस के हाथ अबतक खाली है। विदित है कि तीन सितंबर की शाम पांच की संख्या में अपराधियों ने घंटना को अंजाम दिया था। अपराधियों ने गुंजन ज्वेल्स में रखे लगभग एक करोड़ रुपये के सोने के आभूषण लूट लिया था। घटना में शामिल मुख्य आरोपी शंकर ठाकुर उर्फ रमेश ठाकुर, शिवम कुमार उर्फ टोकियो सहित अन्य अपराधी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। जबकि पुलिस के अनुसार डकैती की घटना को अंजाम देने के बाद गुंजन ज्वेल्स से लूटा सोना इन्ही दोनों अपराधियों ने ठिकाने लगाया है।

👉बिहार से भी खाली हाथ लौटी पुलिस की टीम

अपराधियों की तलाश में बिहार गयी पुलिस की टीम को भी खाली हाथ लौटना पड़ा। बता दें कि धनबाद पुलिस की ओर से चार टीम को बिहार के अलग-अलग जिलों में भेजा गया था। वही धनसार थाना प्रभारी के नेतृत्व में एक टीम को शंकर ठाकुर की तलाश में बिहार के समस्तीपुर भेजा गया था। हालांकि, पुलिस को कुछ भी हाथ नहीं लगा। नतीजा 10 दिन बिहार में बिताने के बाद सभी पुलिस टीम धनबाद लौट चुकी है।

👉लूटकांड में इस्तेमाल कार भी लापता

लूटकांड में अपराधियों द्वारा सफ़ेद रंग की स्कॉर्पियो का इस्तेमाल किया था। पुलिस के शुरुआती जांच के अनुसार घटना को अंजाम देने के बाद इसी कार में अपराधी नई दिल्ली कॉलोनी होते हुए गोधर, केंदुआ, करकेंद व पुटकी के रास्ते बोकारो की ओर फरार हुए थे। जिसे अभी तक तलाश नहीं किया जा सका है।

इधर गुंजन ज्वेल्स में हुए लूटकांड के महज तीन दिनों बाद ही बैंक मोड़ मटकुरिया रोड स्थित मुथूट फिनकॉर्प में डकैती की दूसरी घटना कां अंजाम दिया गया और यहाँ पकड़े गए अपराधियों ने गुंजन ज्वेल्स में शामिल होने की बात कबूल की थी। डकैती की घटना में शामिल मुख्य आरोपी का नाम भी अपराधियों ने बताया था। इसी के बाद पुलिस को गुंजन ज्वेल्स में हुई घटना में शामिल अपराधियों का सुराग हाथ लगा।

👉राहुल व आसिफ ने दिया बयान लूट का सोना शंकर ठाकुर उर्फ रमेश ठाकुर के पास

जानकारी के अनुसार डकैतीकांड में शामिल मुख्य सरगना एवं मुथूट फिनकॉर्प मुटभेड़ के बाद से फरार शंकर ठाकुर उर्फ रमेश ठाकुर ने नेपाल में शरण ले रखा है। लूटा गया सोना उसी के पास है. मुथूट फिनकॉर्प मुठभेड़ में पकड़े गए राघव उर्फ राहुल व आसिफ उर्फ माया ने भी पुलिस रिमांड में दिए गए अपने बयान में लूट का सोना शंकर ठाकुर के पास होने की बात कही है। विभिन्न टोल प्लाजा में लगे सीसीटीवी कैमरा फुटेज के आधार पर पुलिस को शंकर ठाकुर के नेपाल में होने की जानकारी मिली है। सीसीटीवी कैमरे में कार में सवार शंकर ठाकुर की तस्वीर पुलिस को हाथ लगी है।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You may have missed