May 27, 2022

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

एलबीएसएम कॉलेज : रंगारंग कार्यक्रम के साथ 12वीं के विद्यार्थियों को दी गई विदाई, सफल जीवन की कामना

1 min read

जमशेदपुर : लाल बहादुर शास्त्री मेमोरियल कॉलेज जमशेदपुर के प्रांगण में इंटरमीडिएट डिपार्टमेंट ऑफ कॉमर्स के 12वीं के बच्चों का विदाई समारोह आयोजित किया गया और उनके सफल जीवन की कामना के साथ दीप प्रज्वलित कर, सरस्वती आराधना कर रंगारंग कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। प्राचार्य (डॉ)अशोक कुमार झा ने अपने संबोधन में कहा कि आप हमसे दूर जरूर जा रहे हैं पर हम आपसे हमेशा मिलते रहेंगे और हमारे कॉलेज में पिछले साल से बीबीए और बीसीए की पढ़ाई शुरू हुई है, जो भी बच्चे बीबीए है या बीसीए में नामांकन करना चाहते हैं तो कॉलेज में 50-50 की संख्या में सीट निर्धारित है। वह बच्चे अभी नामांकन करा सकते हैं या अपना सीट रिजर्व करा सकते हैं। प्राचार्य ने अपने संबोधन में कहा यहां पर आपके जीवन की नई यात्रा शुरू होती है हम परमपिता परमेश्वर से यही कामना करते हैं कि आप जहां कहीं भी रहे जिस किसी भी फील्ड में जाएं अपना अपने परिवार का तथा इस कॉलेज का नाम रोशन करें। आज से जीवन की एक नई परिपाटी शुरू हो रही है और इस परिपाटी को ध्यान में रखते हुए समाज में आपकी भूमिका को ध्यान में रखते हुए कार्य करने हैं। आप जो भी कार्य करें उस कार्य के सामंजस्य में सभी का भला हो यह सोच कर कार्य करें। आप किसी भी फील्ड में जाएं क्रोध लालच और ईर्ष्या इन तीन चीजों से दूर रहें। समाज में आपकी पहचान तभी बनेगी जब आप किसी कार्य को दक्ष होकर अच्छे से समझ कर और सब की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए कार्य करेंगे। आप समाज के अभिन्न अंग हैं, नया समाज का निर्माण आपसे होना है इसलिए आप ऐसे समाज का निर्माण करेंगे जो राग और द्वेष से ग्रसित ना हो, हमेशा वसुधैव कुटुंबकम की जो भारतीय परंपरा है उस की पराकाष्ठा को ध्यान में रखते हुए आगे बढ़े और जीवन में उन्नति करें।
कॉलेज के प्रोफेसर डॉक्टर विनोद कुमार ने अपने संबोधन को सुरों में पिरोते हुए कहा कि आप हमसे दूर नहीं हैं बल्कि आप हमारे अंग हैं और जिस तरह से संगीत के सात सुर होते हैं उसी तरह से आप हमारे कॉलेज के सुर हैं और कोई भी सुर को, स्वर को, आवाज को कैसे भूल सकता है आप जीवन के हर क्षेत्र में प्रगति करें यही कामना मैं आज माता सरस्वती से करता हूं। इंटरमीडिएट इंचार्ज जया कच्छ्प ने अपने संबोधन में कहा कि आप हमारे कॉलेज से एक संस्कार लेकर जा रहे हैं और वह संस्कार यह है कि किसी भी परिस्थिति में आप नारी का सम्मान जरूर करेंगे और नारी की अस्मिता की रक्षा के लिए आप हमेशा आगे रहेंगे। आप जहां कहीं भी रहें सुरक्षित रहें, अच्छे समाज को बनाएं और अपने आसपास के माहौल को हमेशा खुशनुमा बना कर रखें। ताकि कोई भी आपके व्यवहार से आकर्षित हो सकें और अच्छी अपॉर्चुनिटी आपको प्राप्त हो सके।
रंगारंग कार्यक्रम के साथ कॉलेज के 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों को विदाई दी गई। आंखों में अश्रु की झलक थी। लेकिन वह इस बात की निशानी थी कि बच्चे हमसे जरूर दूर जा रहे हैं लेकिन एक नई परंपरा का निर्वहन भी कर रहे हैं।
इस कार्यक्रम में प्राचार्य(डॉ) अशोक कुमार झा के साथ प्रोफेसर पुरुषोत्तम प्रसाद,संतोष राम प्रोफेसर(डॉ) विनोद कुमार प्रोफेसर (डॉ) विनय कुमार गुप्ता प्रोफेसर व इंटरमीडिएट इंचार्ज (डॉ) जया कच्छप इंटरमीडिएट के शिक्षकों में चंदन कुमारी, सोमा दास, शोभा देवी, शिवनाथ शर्मा, लूसी रानी मिश्रा, प्रीति कुमारी, सीता मुर्मू, सुमित्रा सिंकू, जश्मि सोरेन, शिप्रा बोइपाई, कुमारी पूजा गुप्ता, पूजा कुमारी दत्ता और कोऑर्डिनेटर अनिमेष कुमार बख्शी उपस्थित थे तथा धन्यवाद ज्ञापन प्रोफेसर चंदन कुमारी ने किया।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published.