January 27, 2023

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

देश आज मना रहा है 74वां गणतंत्र दिवस : PM मोदी नेशनल वॉर मेमोरियल पर देंगे शहीदों को श्रद्धांजलि : कर्तव्य पथ पर तिरंगा फहराएंगी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

1 min read

मिरर मीडिया : आज यानी 26 जनवरी को देश 74वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर आज राजधानी दिल्ली में कर्तव्य पथ पर पहली बार नए भारत की झलक से लेकर देश की ताकत दिखेगी।

आज गणतंत्र दिवस के अवसर पर सेना की सुप्रीम कमांडर और राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू कर्तव्य पथ पर तिरंगा फहराएंगी। इसके बाद वह परेड की सलामी लेंगी। मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सिसी को गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया है।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू कर्तव्य पथ से गणतंत्र दिवस समारोह में देश का नेतृत्व करेंगी और झंडा फहराएंगी। कर्तव्य पथ पर परेड की शुरुआत सुबह 10.30 बजे होगी, जहां इसमें देश की सैन्य शक्ति और सांस्कृतिक विविधता की झलक देखने को मिलेगी। गणतंत्र दिवस के मद्देनजर राजधानी में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा की कड़ी तैनाती कर दी गई है। जमीन से लेकर आसमान तक निगेहबानी की जा रही है। राष्ट्रीय राजधानी में गणतंत्र दिवस पर किसी भी अप्रिय घटना को टालने के लिए बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है और अधिक संख्या में सुरक्षाबलों और पुलिस के जवानों की तैनाती की गई है। तो

दरअसल, गणतंत्र दिवस समारोह की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 10 बजकर 5 मिनट पर नेशनल वॉर मेमोरियल पर शहीदों को श्रद्धांजलि देने से होगी। उसके बाद 10 बजकर 22 मिनट पर पीएम मोदी सैल्यूटिंग डायस पर पहुंचेंगे। 10 बजकर 27 मिनट पर राष्ट्रपति और मुख्य अतिथि समारोह स्थल पर पहुंचेंगे, जहां पीएम मोदी उनका स्वागत करेंगे। सुबह 10:30 मिनट पर सुप्रीम कमांडर राष्ट्रपति के ध्वजारोहण से परेड की शुरूआत होगी। ध्वजारोहण के दौरान हर साल की तरह 52 सैंकड में 21 तोप की सलामी होगी, लेकिन इस बार ब्रिटिश 25 पाउंडर की जगह स्वदेशी 105 mm इंडियन फील्ड गन उसकी जगह लेगी।

गणतंत्र दिवस समारोह में आज कर्तव्य पथ पर कुल 23 झांकियां देखने को मिलेंगी। फ्लाईपास्ट में 23 लड़ाकू विमान, 18 हेलिकॉप्टर और 8 ट्रांसपोर्टर विमान शामिल होंगे। इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है कि गणतंत्र दिवस की परेड में प्रदर्शित होने वाले सेना के सभी हथियार सिस्टम मेड इन इंडिया हैं। पहली बार इंडियन फील्ड गन से 21 तोपों की सलामी दी जाएगी।

वहीं बीएसएफ के ऊंट दस्ते में पहली बार महिलाओं को शामिल किया गया है। कर्तव्य पथ पर नए भारत की झलक से लेकर देश की ताकत भी दिखेगी। साथ ही वायुसेना के 50 विमान पारक्रम दिखाएंगे। मिस्र के राष्ट्रपति के साथ उनके देश का 120 सदस्यीय मार्चिंग दल भी परेड में हिस्सा लेगा।

गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर देश की राजधानी दिल्ली में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबलों की नजर है और कई हिस्सों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। दिल्ली पुलिस की मानें तो आज यानी 26 जनवरी को करीब 65,000 लोग परेड देखने के लिए समारोह में शामिल होंगे। 26 जनवरी की परेड की सुरक्षा के लिए लगभग 6,000 जवानों को तैनात किया गया है, जिसमें दिल्ली पुलिस के अलावा अर्धसैनिक बल और एनएसजी शामिल हैं। इतना ही नहीं, आसमान से भी नजर रखी जाएगी।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *