May 27, 2022

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

मैं कार्यालय में बैठु या नहीं मेरी मर्जी : कुछ इसी तरह का दबदबा है धनबाद के अंचल कार्यालय के हल्का कर्मचारी और कंप्यूटर ऑपरेटर की

1 min read

मिरर मीडिया : मैं कार्यालय में बैठु या नहीं मेरी मर्जी। जी हाँ ये सरकारी दफ्तर है भाई और सरकारी लोग। कौन देखने वाला है जनता परेशान होती रहें। आपको बता दें कि धनबाद के अंचल कार्यालय में अवैध कंप्यूटर ऑपरेटर एवं दलालों का दबदबा जारी है लगातार खबरों का प्रकाशन होने के बाद एवं उपायुक्त के संज्ञान के बाद अब अवैध कंप्यूटर ऑपरेटर अपने घर से ही कार्यों का निष्पादन कर रहे हैं। यानी उन्हें किसी का डर नहीं है पर आलम ये है कि अभी भी अवैध कंप्यूटर ऑपरेटर एवं हल्का के कर्मचारी मिलकर घर से कार्यों को अंजाम दे रहे हैं।

अमजद एवं उसके गुर्गे घर से ही कार्यो का कर रहे निष्पादन

कर्मचारी एवं अंचल निरीक्षक के यूजर आईडी और पासवर्ड का कर रहे हैं इस्तेमाल

कार्यालय के बदले कर्मचारी आवास से ही करते हैं कार्य

अवैध कंप्यूटर ऑपरेटर अमजद सहित अन्य गुर्गे की होती है मोटी कमाई

सीओ ने जांच कर कार्रवाई की कही बात

सूत्रों की माने तो अभी भी हल्का एवं अंचल कार्यालय में इन अवैध कंप्यूटर ऑपरेटरों का वर्चस्व कायम  है एवं हल्का कर्मचारी और अंचल निरीक्षक के यूजर आईडी और पासवर्ड का इस्तेमाल इन्हीं लोगों के द्वारा किया जा रहा है। वही हल्का 2 के कर्मचारी पंकज सिन्हा भी अपने कार्यालय में ना बैठ कर घर से ही कार्यों को अंजाम देते हैं। अवैध कंप्यूटर ऑपरेटर के जरिए लोगों के दाखिल खारिज, पंजी 2 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन जाति आवासीय सहित अन्य कार्यों का निष्पादन के लिए पैसे की उगाही की जाती है एवं कर्मचारी आवास से ही सभी कार्यों को अंजाम दिया जाता हैं जो पैसे नहीं देते उनके कार्यों को किसी न किसी कारण से ऑब्जेक्शन देकर लटका दिया जाता है

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published.