December 7, 2022

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

झारखण्ड राज्य स्थापना दिवस का 22वां वर्ष :
एक लाख 70 हजार 515 लाभुकों के बीच 160 करोड़ से अधिक की परिसंपत्ति का वितरण

1 min read

झारखंड बनने के बाद धनबाद जिले ने प्रगति की और विकास भी हुआ – पीएन सिंह

एक लाख 40 हजार आवेदनों का पारदर्शिता से हुआ निष्पादन – उपायुक्त

पंचायत, प्रखंड, जिला व राज्य स्तर पर गठित टास्क फोर्स द्वारा आवेदनों की निगरानी

मिरर मीडिया : झारखंड राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आज न्यू टाउन हॉल में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि सांसद धनबाद पशुपतिनाथ सिंह ने कहा कि झारखंड बनने के बाद धनबाद ने प्रगति की है और जिले का विकास भी हुआ है। जब से उपायुक्त संदीप सिंह ने पदभार ग्रहण किया है तब से जिले के विकास के लिए वे लगातार प्रयासरत है। गया पुल चौड़ीकरण के लिए उपायुक्त की पहल सराहनीय है।

सांसद ने कहा कि 22 वर्षों में धनबाद में काफी प्रगति हुई है। पीने के पानी का समाधान हुआ है। सड़कों का जाल बिछा है। बरमसिया, आरा मोड़, रेंगुनी, प्रधानखंता, महुदा, कुमारधुबी, कतरास इत्यादि स्थानों पर सुगम यातायात के लिए रेलवे पुल बनाए गए हैं। सिंदरी में हिंदुस्तान उर्वरक एवं रसायन लिमिटेड (हर्ल) में खाद और युरीया का उत्पादन शुरू हो चुका है। पहले जहां 2 लाख मेट्रिक टन का उत्पादन होता था आज वहां 30 लाख मीट्रिक टन उत्पादन संभव हुआ है। इंडियन स्कूल ऑफ माइंस (आईएसएम) को आईआईटी का दर्जा मिला। यह सारी उपलब्धियां जिले के विकासशील होने का प्रमाण है।

इससे पूर्व सांसद ने धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा की जीवनी पर प्रकाश डाला और कहा कि उनकी कुर्बानी और आजादी की लड़ाई मील का पत्थर साबित हुई। झारखंड की धरती और झारखंड के लोग धरती आबा के ऋणी है। उनका ऋण चुकाना सभी का दायित्व है।

वहीं एक लाख 70 हजार 515 लाभुकों के बीच परिसंपत्तियों के वितरण पर सांसद ने कहा कि इससे गरीबों के घर में रोशनी आएगी। परिसंपत्ति मिलने से लाभुक प्रगति कर बेहतर जीवन यापन करेंगे।

समारोह को संबोधित करते हुए उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी संदीप सिंह ने आपकी योजना – आपकी सरकार – आपके द्वार कार्यक्रम पर प्रकाश डालते हुए कहा कि 12 अक्टूबर से 22 अक्टूबर तथा 1 नवंबर से 14 नवंबर तक आयोजित कार्यक्रम में लगभग एक लाख 40 हजार आवेदनों का निष्पादन हुआ। वहीं 2 लाख 15 हजार से अधिक आवेदन प्राप्त हुए।

उन्होंने कहा कि सभी आवेदनों का पारदर्शिता के साथ निष्पादन किया गया। प्रतिदिन आवेदनों की ऑनलाइन पोर्टल पर एंट्री की जाती है। आवेदन के साथ आवेदक का मोबाइल नंबर लिया जाता है। एसएमएस के माध्यम से आवेदक को उनके आवेदन की स्थिति के संबंध में सूचना और आवेदन की रसीद दी जाती है। कागजात में कुछ कमी या त्रुटि होने पर आवेदक से संपर्क किया जाता है। प्रत्येक आवेदन का पंचायत, प्रखंड, जिला और राज्य स्तर पर गठित टास्क फोर्स द्वारा निगरानी की जाती है।

उन्होंने बताया कि कार्यक्रम के दौरान सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना, नए ग्रीन राशन कार्ड, सीएमईजीपी, मुख्यमंत्री पशुधन, सर्वजन पेंशन योजना, मनरेगा जॉब कार्ड, बिजली, पानी, सड़क इत्यादि जन शिकायत के मामले, मनरेगा अंतर्गत 5 – 5 योजनाओं का चयन सहित विभिन्न प्रकार के आवेदन प्राप्त किए गए।

कार्यक्रम में उपस्थित जिला परिषद की अध्यक्ष शारदा सिंह ने कहां की 22 वर्षों के अंतराल में झारखंड पूर्ण रूप से युवा हो गया है। सभी जनप्रतिनिधि झारखंड को आगे बढ़ाने के लिए तैयार है। उन्होंने आपकी योजना – आपकी सरकार – आपके द्वार कार्यक्रम की प्रशंसा की और कहा कि इससे सैकड़ों लोग लाभान्वित हुए हैं।

एक लाख 70 हजार 515 लाभुकों के बीच 160 करोड़ से अधिक की परिसंपत्ति का वितरण

जिला स्तरीय कार्यक्रम में सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा मुख्यमंत्री राज्य वृद्धावस्था पेंशन के 11419, मुख्यमंत्री राज्य विधवा सम्मान पेंशन के 4688, मुख्यमंत्री आदिम जनजाति पेंशन योजना के एक, मुख्यमंत्री एचआईवी एड्स पीड़ित पेंशन के 40, स्वामी विवेकानंद स्वावलंबन निशक्त पेंशन योजना के 1932, राष्ट्रीय परिवार हितलाभ के 38 तथा 45027 लाभुकों के बीच निशुल्क कंबल का वितरण किया गया।

आपूर्ति विभाग द्वारा 9144 लाभुकों के बीच न्यू ग्रीन कार्ड निर्माण एवं टैगिंग, 23225 लाभुकों को एनएफएसए के अंतर्गत राशन कार्ड में सदस्यों को जोड़ने का काम तथा 41496 लाभुकों को सोना सोबरन धोती साड़ी लूंगी योजना का लाभ प्रदान किया गया।

जेएसएलपीएस द्वारा 1037 लाभुकों को चक्रिय निधि, 2142 को सामाजिक निवेश राशि, 3538 को सीसीएल लोन, 366 को स्थापना निधि, 36 लाभुकों को वीआरएफ तथा 333 लाभुकों को फूलो जानो आशीर्वाद योजना का लाभ दिया गया।

समाज कल्याण विभाग द्वारा 16728 लाभुकों को सावित्रीबाई फूले किशोरी समृद्धि योजना, 78 को मुख्यमंत्री कन्यादान योजना एवं 67 लाभुकों के बीच व्हीलचेयर, ट्राईसाईकिल, वैशाखी एवं दिव्यांग यंत्र उपकरण का वितरण किया गया।

जिला ग्रामीण विकास अभिकरण (डीआरडीए) द्वारा 3889 लाभुकों को बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना तथा 3542 को मनरेगा अंतर्गत जॉब कार्ड का वितरण किया गया।

मत्स्य विभाग द्वारा 9 लाभुकों को प्रधान मंत्री मत्स्य संपदा योजना, अग्रणी बैंक प्रबंधक द्वारा 644 को केसीसी, 148 को मुद्रा लोन, 475 एसएचजी को लाभ प्रदान किया गया।

वहीं गव्य विकास द्वारा 48 लाभुकों को मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना तथा एक लाभुक को मिनी डेयरी योजना, पशुपालन विभाग द्वारा ब्रॉयलर कुक्कुट पालन के लिए 48, बकरी पालन के लिए 92, बत्तख चुजा के लिए 108 तथा श्रम विभाग द्वारा मृत्यु या दुर्घटना सहायता योजना के तहत 176 लाभुकों को योजना का लाभ प्रदान किया गया।

न्यू टाउन हॉल में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में माननीय सांसद धनबाद पशुपतिनाथ सिंह, उपायुक्त संदीप सिंह, उप विकास आयुक्त शशि प्रकाश सिंह, जिला परिषद अध्यक्ष शारदा सिंह, जिला परिषद उपाध्यक्ष सरिता देवी, चिरकुंडा नगर परिषद के अध्यक्ष डब्लू बाउरी, जिला 20 सूत्री के माननीय अध्यक्ष ब्रजेन्द्र प्रसाद, अपर समाहर्ता श्री नंदकिशोर गुप्ता, जिला योजना पदाधिकारी महेश भगत, निदेशक डीआरडीए मुमताज अली अहमद, निदेशक एनईपी इंदु रानी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी स्नेह कश्यप, श्रम अधीक्षक हरेन्द्र सिंह, जेएसएलपीएस की जिला कार्यक्रम प्रबंधक रीटा सिंह, कार्यपालक दंडाधिकारी सुशांत मुखर्जी, डॉ प्रदीप कुमार, अंशु पांडेय, अमर कुमार, जिला परिषद सदस्य, विभिन्न पंचायतों के मुखिया, जनप्रतिनिधि, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचल अधिकारी एवं बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

जिला स्तरीय कार्यक्रम में मंच का संचालन दिलीप कुमार कर्ण ने किया। कार्यक्रम की शुरुआत में धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed