December 1, 2021

Mirrormedia

Jharkhand no.1 hindi news provider

सबको न्याय मिले यही हमारा लक्ष्य – न्यायमूर्ति एस चंद्रशेखर ने आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम में कहा न्याय जाति,धर्म,कौम, हैसियत को नहीं देखता

1 min read

आजादी का अमृत महोत्सव के तहत सीजेआई के नेतृत्व में विधिक जागरूकता कार्यक्रम को मिली सफलता – न्यायमूर्ति एस चंद्रशेखर

1205 गांवों में 3800 कैंप आयोजित कर लोगों को किया गया जागरूक – प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश

5600 लोगों को विभिन्न सरकारी योजनाओं से किया गया लाभान्वित – उपायुक्त

मिरर मीडिया : चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया के नेतृत्व में गांधी जयंती के अवसर पर शुरू किए गए आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत पूरे देश में विधिक जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया। उनके नेतृत्व में कार्यक्रम को सफलता, नई दिशा, सोच और गति मिली है। जिस कारण यह कार्यक्रम इस मुकाम तक पहुंचा है। कार्यक्रम की सफलता का श्रेय उच्च न्यायालय झारखंड के माननीय मुख्य न्यायाधीश, धनबाद, देवघर और बोकारो के प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश, तमाम न्यायिक पदाधिकारी, तीनों जिले के उपायुक्त, पैरा लीगल वालंटियर, अधिवक्ता को भी जाता है।

उपरोक्त बातें शनिवार को न्यू टाउन हॉल में आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम में झारखंड उच्च न्यायालय के माननीय न्यायमूर्ति एस चंद्रशेखर ने कार्यक्रम में ऑनलाइन शामिल होते हुए कही। उन्होंने कहा न्याय जाति, धर्म, कौम, हैसियत को नहीं देखता। सबको न्याय मिले यही हमारा लक्ष्य है। न्याय की कोई परिभाषा नहीं होती यह एक सोच है। सबके मन में न्याय बसे यही हमारा ध्येय है।

समारोह में प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह चेयरमैन डालसा राम शर्मा ने कहा कि 2 अक्टूबर से चलाए जा रहे इस कार्यक्रम में 1205 गांवों में पैरा लीगल वॉलिंटियर, न्यायिक पदाधिकारी, अधिवक्ताओं के द्वारा तीन तीन बार विधिक जागरूकता शिविर आयोजित कर लोगों को विभिन्न कानूनों व सरकारी योजनाओं की जानकारी दी गई। केवल आज 500 लाभुकों के बीच 7.50 करोड़ की परिसंपत्तियों का वितरण किया जा रहा है।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपायुक्त सह उपाध्यक्ष डालसा संदीप सिंह ने कहा कि कार्यक्रम के तहत कुल 3800 कैंप आयोजित किए गए। विभिन्न विद्यालयों में कार्यक्रम किया गया। बच्चों, महिला शिक्षिकाओं व ग्रामीणों को कानून की जानकारी दी गई। 5600 से अधिक जरूरतमंद को सरकारी योजनाओं से अब तक आच्छादित किया गया। कोविड-19 में अपने माता-पिता को खोने वाले 66 बच्चों को शिशु योजना के तहत लाभ प्रदान किया गया।

श्रम विभाग की ओर से 479 लोगों को साड़ी, 390 लोगों को पैंट शर्ट, 902 लोगों को सेफ्टी किट, 75 लोगों को स्कॉलरशिप, 302 को लेबर कार्ड, 310 लोगों को बीओसी लेबर कार्ड, 20 लोगों को ई- लेबर कार्ड मुहैया कराया गया। 40 लोगों को कैश क्रेडिट लिंकेज के तहत 4 लाख, 50 लोगों को रिवाल्विंग फंड के तहत 7.50 लाख, 350 लोगों को कम्युनिटी इन्वेस्टमेंट फंड के तहत 54 लाख का लोन दिया गया।



7 लोगों के बीच बकरी का वितरण किया गया,17 लोगों को ट्राई साइकिल, 34 लोगों को व्हील चेयर, 8 लोगों को हियरिंग मशीन, 166 लोगों को ओल्ड एज पेंशन, 25 विधवा पेंशन, 81 दिव्यांग पेंशन, 200 लोगों को कंबल, 175 लोगों को पीएम आवास योजना, 328 लोगों को मनरेगा जॉब कार्ड, 27 लोगों को किसान क्रेडिट कार्ड, 80 लोग को बीज, 10 को राशन कार्ड, 17 लोगों को उज्ज्वला योजना के तहत गैस का वितरण किया गया।

उपायुक्त ने कहा कि कुल 8 करोड 89 लाख 39 हजार 489 रूपए के परिसंपत्तियों का वितरण 4432 लाभुकों के बीच दो अक्टूबर से लेकर 3 नवंबर तक किया जा चुका है।

प्राधिकार के सचिव सह अवर न्यायाधीश नीताशा बारला ने बताया कि कार्यक्रम के तहत मोबाइल वैन द्वारा भी जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत किसानों को ट्रैक्टर व अन्य उपकरण आज प्रदान किए गए। श्रमिकों के परिवार को भी बीमा व चिकित्सा संबंधी योजनाओं से लाभान्वित किया गया।

उन्होंने बताया कि आज के कार्यक्रम में 500 लाभुकों के बीच साढे सात करोड़ की परियोजनाओं के लाभ जिसमें जिला उद्योग केंद्र द्वारा 12 लाभुकों, अग्रणी जिला प्रबंधक द्वारा केसीसी के तहत 12 लोगों को मुद्रा लोन, भूमि संरक्षण सर्वेक्षण विभाग द्वारा मिनी ट्रैक्टर व अन्य कृषि यंत्र 3, महिला समूह को झारखंड भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड योजना के तहत 237, छात्र-छात्राओं, मातृत्व योजना के तहत 15 महिलाओं को, निर्माण सेफ्टी किट योजना के तहत 303 मजदूरों को, अंत्येष्टि सहायता योजना के तहत 6 लोगों को, विवाह सहायता योजना के तहत 2 लोगों के बीच राशि का वितरण किया गया।

वहीं असंगठित सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत 51 लोगों को चिकित्सीय सहायता, 16 लोगों को अंत्येष्टि सहायता, तीन लोगों को मृत्यु सहायता योजना जबकि मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना के तहत 8 गाय, बकरा विकास योजना के तहत पांच बकरा, जिला समाज कल्याण विभाग द्वारा 5 ट्राई साइकिल, 1 व्हीलचेयर, 2 हियरिंग मशीन, मत्स्य विभाग द्वारा 20 फिशनेट, 50 लाइफ जैकेट के अलावा जेएसएलपीएस द्वारा लाभ का वितरण किया गया।

कार्यक्रम में प्राधिकार की ओर से पैरा लीगल वालंटियर राजेश कुमार सिंह, डिपेंटी गुप्ता और पंकज कुमार वर्मा को सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए सम्मानित किया गया। स्कूली बच्चों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

समारोह में तमाम न्यायिक पदाधिकारी, बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार सहाय, सिटी एसपी श्री आर राम कुमार, एसडीएम प्रेम कुमार तिवारी, डीपीओ महेश भगत, डीएसडब्ल्यूओ स्नेह कश्यप, डीआईओ सुनिता तुलस्यान सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे। वहीं बोकारो उपायुक्त कुलदीप, देवघर के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री, बोकारो के प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रदीप कुमार श्रीवास्तव, देवघर के प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश दिवाकर पांडे, सभी न्यायिक पदाधिकारी ने भी कार्यक्रम में ऑनलाइन शिरकत की। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लाभुक भी उपस्थित थे।

Share this news with your family and friends...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *